मसूरी में घूमने की जगह | Places to Visit in Mussoorie

नमस्कार दोस्तों ! यात्रा 99 में आपका स्वागत है. जैसा कि आप जानते हैं कि हम अपने ब्लॉग में आपको दुनियां की शानदार जगहों के बारे में बताते रहते हैं. आज कि पोस्ट “मसूरी में घूमने की जगह | Places to Visit in Mussoorie” में भी हम आपको एक प्रकृति की सुन्दर जगह मसूरी के बारे में बताने जा रहे हैं.

पहाडों की रानी | Queens of Hills

दोस्तों मसूरी, पहाडों की रानी जिसे Queens of Hills के नाम से भी जाना जाता है। मसूरी की सुन्दर वादिया और खुबसूरत मौसम पूरे भारत में मशहूर हैं । मसूरी सिर्फ इंडियन टूरिस्ट की पसंद ही नही ब्लकि इंटरनेशनल टूरिस्ट के बीच में भी बहुत मशहूर हैं ।

मसूरी इंडिया की नोर्थेस्ट स्टेट उत्तराखंड के राजधानी देहरादून से 35 किलोमीटर दुर है। मसूरी, बच्चे, जवान और फैमिली के बीच में बहुत ही ज्यादा फैमिली स्पॉट बना रहता है।

Places_to_Visit_in_Mussoorie

मसूरी में आपकों बहुत सी जगह देखने को मिल जाएंगी जैसे –


• Waterfalls
• Mall road of mussoorie
• Natural beauty of mussoorie
• Tourist spot
• और मसूरी का खाना ।

ये सब मसूरी की खुबसूरती को चार चांद लगा देते है।

इस आर्टिकल में हम आपको मसूरी के 10 टूरिस्ट प्लेस बताने वाले है जहा आपकों घूमने जाना चाहिये। और साथ ही बताएगें की यहा पर घुमने का सही समय और कितने पैसे लगेंगे।

मसूरी में घूमने की 10 जगह

दोस्तों आपको हम बता रहे है की लाइब्रेरी चौक को मसूरी का सिटी सेंटर माना जाता है. इसीलिए हम आपको सारे रास्तों की दूरी और समय, लाइब्रेरी चौक से ही बताने वाले है।

ज्वाला देवी मंदिर | Jwala Devi Temple Mussoorie

ज्वाला देवी मंदिर, लाइब्रेरी चौक से लगभग 8 किलोमीटर पर है। जहा पर आपको जानें में तकरीबन 20 से 25 मिनट लग सकता है । ज्वाला देवी का मंदिर उतना ही पुराना है जितना की माता वैष्णो देवी का मंदिर है । हिंदू स्नातन के ग्रंथ में बताया हैं की जब शिव जी माता सती का मृत शरीर लेकर जा रहे थे तो उनके 51 हिस्से शरीर के टूट कर धरती पर गिरे थे। जिस पर से उनका जीब और जलते हुए कपड़े इस मंदिर पर आकर गिरे थे। इसलिए इस मंदिर के पवित्र गुफा में पवित्र ज्योति हमेशा जलती ही रहती है।

साथ ही इस मन्दिर का वर्णन महाभारत में भी किया गया है । इसलिए हर साल नवरात्रो में सारे श्रधालू यहा पर माता ज्वाला देवी के दर्शन करने जरुर आते है। माता ज्वाला का मंदिर अपने हसीन वादियों के लिये बहुत मशहूर हैं । और आप यहा पर पैदल चढाई करके भी आ सकते है।

माता देवी का मंदिर सुबह 5 बजे से दोपहर 12 बजे तक खुला रहता है। और शाम के 4 बजे से लेकर रात 8 बजे तक खुला रहता है।
इस मंदिर में आने की कोई भी एन्ट्री फीस नही है।

लाल टिब्बा मसूरी | Lal Tibba Mussoorie

लाल टिब्बा, लाइब्रेरी चौक से तकरीबन 7.5 किलोमीटर पर है जहा आपको पहुचने में आधा घंटा लग जाता है। लाल टिब्बा का मतलब है लाल पहाड़ । ये मसूरी का सबसे ऊचा पॉइन्ट है। और ये टूरिसटॉ के बीच बहुत मशहूर है । लाल टिब्बा के सुन्दर पॉइन्ट से आप हिमालयन माउंटेन की पूरी रेंज देख सकते हैं । और यहा तक की यहा के रूफ में टेलीस्कोप भी लगा है जहा से हिमालय का नजदीकी नजारा भी देख सकते हैं ।
लाल टिब्बा में घुड़सवारी और ट्रैकिंग करना जरुर चाहिये। इस जगह आपको एक केफे भी मिलेगा।

लाल टिब्बा का समय है सुबह 8 बजे से रात 8 बजे तक। और यहा की एन्ट्री फीस 40 रुपय/व्यक्ति हैं । यहा घूमने के लिये आपकों 1 घंटा ही काफी है। और अगर आप फोटोग्राफी के शौकीन हैं तो ये जगह फोटोग्राफी लेने के लिये बहुत ही अच्छी जगह है।

क्राइस्ट चर्च मसूरी | Christ chruch Mussoorie

Christ chruch, लाइब्रेरी चौक से सिर्फ 600 मीटर की दूरी पर है यहा पर आप पैदल भी जा सकते है। Christ chruch हिमालयन रेंज का सबसे पहला कैथलिक चर्च है। और ये मॉल रोड के कस्मंदा पैलेस से थोड़े ही पहले है। इस चर्च का निर्माण 1836 में ब्रिटिश कम्युनिटी के द्वारा किया गया था ।

अगर आप यहा घुमने का प्लान तब बनायें जब आप मॉल रोड घूमने का प्लान बना रहें हैं । और अगर आपका होटल मॉल रोड में ही है तो आप चर्च पैदल भी जा सकते हैं । इस चर्च का समय है सुबह 7 बजे से शाम 6:30 बजे तक। और ये चर्च संडे को खुलता है। सुबह के 8 बजे से शाम के 6:30 बजे तक । यहा पर जाने की कोई भी एन्ट्री फीस नही है ।

बस आपको ये सलाह दी जाती है की अगर आप वहा जाए तो ऐसे कपड़े पहन कर जाए जिसमें आपके कंधे और घुटने ढके हुए हो।

कैमल बेक रोड मसूरी | Camel Back Road

Camel back road, लाइब्रेरी चौक से तकरीबन 3 किलोमीटर पर हैं । और मसूरी मॉल रोड से आप यहा पैदल भी जा सकते है।Camel back road पीस वॉक करने के लिए मशहूर है। जहा आप प्रकृति का मजा लेते-लेते मसूरी की वादियों का मजा ले सकते है।

यहा पर सुबह की जोग्गिंग और शाम की वॉक करना सबसे मशहूर हैं । यहा पर आपकों बहुत से दुकान देखने को मिल जाएंगे जहा से आप अपने परीजनों के लिये कपड़े और भी चीजे खरीद सकते है।

ये 24 घंटे खुली रहती हैं लेकिन यह पर जाने का सबसे अच्छा समय सुबह 7 बजे से सुबह 10 बजे तक का हैं । और अगर आप यहा शाम को जाना जाते है तो 5 बजे के बाद ही जाए। यहा जाने की कोई भी एन्ट्री फीस नही है ।

गन हिल पॉइंट मसूरी | Gun Hill point Mussoorie

Gun hill point, लाइब्रेरी से तकरीबन 5 से 6 किलोमीटर की दूरी पर है । जहा आपको 20 मिनट जाने में
लगेगा । ये मसूरी का सबसे प्राचीन और दुसरा हाईएस्ट पॉइन्ट हैं । ये अपने फोटोग्राफी के लिए और 360 डिग्री हिमालयन नजारे के लिये मशहूर हैं ।

इस पॉइन्ट से आपको Doon valley साफ दिखेगी।

ये मसूरी का बहुत ही ज्यादा मशहूर जगह हैं जो मसूरी मॉल रोड से 400 फिट ऊपर है। यहा पर जाने के लिये आप रोपवे का भी इस्तेमाल कर सकते हैं । जो मसूरी मॉल रोड से शुरु होती हैं ।

इस जगह का समय सुबह के 10 बजे से शाम के 6 बजे तक है। और यहा की एन्ट्री फीस 75 रुपय/ व्यक्ति है।

भट्टा फाल्स मसूरी | Bhatta falls Mussoorie Uttarakhnad

Bhatta falls , लाइब्रेरी चौक से तकरीबन 13 किलोमीटर की दूरी पर है । जहा आपको 30 से 34 मिनट का समय लग सकता है ।
Bhatta falls अभी नया पिकनिक सपोट बनाया गया है जो मसूरी के पास ही पडता है। और ये टूरिस्टो के बीच आजकल आकर्षण का केन्द्र बना हुआ है ।

Bhatta falls ट्रैकिंग करने के लिये बहुत ही ज़बरदस्त जगह है।

यहा पर आपकों खाने पीने की कोई भी दिक्कत नही होने वाली है क्योंकि यहा पर फूड़ शॉप बनाया हुआ है।
यहा जाने के लिये आप रोपवे का भी इस्तेमाल कर सकते हैं । यहा पर आने के लिये कोई भी एन्ट्री फीस नही है। यहा का समय सुबह 8 बजे से शाम के 5 बजे तक हैं ।

धनौल्टी मसूरी | Dhanaulti Mussoorie

ये लाइब्रेरी चौक से लगभग 60 किलोमीटर की दूरी पर है जहा पहुचने में आपकों 2 से ढाई घंटे लग सकते हैं । ये एक छोटा सा हिल स्टेशन है।
जो गढवाल हिमालयन रेंज के फूट हिल्स में बसा हुआ है। धानौलटी अपने प्रकृति सुन्दरता के लिये मशहूर है। यहा पर घूमने की जगह Eco park और Devgarh fort है। यह का ऐडवेंचर पार्क और टिहरी डाम भी जवान बच्चों के बीच बहुत मशहूर हैं। अगर आप मसूरी से धानौलटी जाने की सोच रहे है तो आप एक दिन में धानौलटी घूम कर भी आ सकते है। यहा पर घूमने का सबसे अच्छा समय मानसून के बाद का है ।
तब यह की हरयाली देखते ही बनती है। यहा पर आप अपने गाड़ी से भी जा सकते है और नही तो आपको वहा पर किराए में टैक्सी भी मिल जाएगी।

मसूरी झील | Mussoorie lake


ये लाइब्रेरी चौक से तकरीबन 6 किलोमीटर की दूरी पर है जो देहरादून और मसूरी के हाईवे पर पड़ता है । मसूरी लेक सिटी बोर्ड के द्वारा बनाया गया एक टूरिस्ट प्लेस है। जहा पर आपकों खरीदने के लिए बहुत सारे समान मिल जाएंगे। यह पर एक haunted house भी हैं ।
आप वहा पर बोटिंग और एक्सट्रीम स्पोर्ट्स भी कर सकते हैं । जैसे की paragliding, KTV riding, skywalk और zip line.
और यहाँ की एन्ट्री फीस 12 रुपए हैं । और यहा का समय सुबह के 8 बजे से शाम के 7 बजे तक हैं ।

केम्पटी फाल्स मसूरी | Kempty Falls Mussoorie

ये लाइब्रेरी चौक से तकरीबन 14 किलोमीटर की दूरी पर है । जहा आपको पहुचने पर 35 मिनट लग सकता हैं । ये मसूरी का सबसे मशहूर टूरिस्ट प्लेस है। जहा पर हर साल लाखो टूरिस्ट आते है। यहा पर जाने के लिए आप रोपवे का भी इस्तेमाल कर सकते है। जिसमें आपकों आने और जाने की फीस 120 रुपय पड़ेगी। यहा पर वॉटर फॉल का मजा लेना तो बनता है । और आप यहा पर बोटिंग का भी मजा ले सकते है।

यहा का समय सुबह और शाम का है और यहा पर आने की कोई भी एन्ट्री फीस नहीं है । और यहा पर गर्मियों में आनें का सबसे अच्छा मौका है ।

मॉल रोड मसूरी | Mall Road Mussoorie

ये लाइब्रेरी चौक के बिल्कुल बगल में हैं लाइब्रेरी चौक से शुरु होकर पिक्चर प्लेस तक तकरीबन 2 किलोमीटर पर है ।
ये जगह फोटोग्राफी के लिए मशहूर हैं। और मसूरी का सबसे जबरदस्त होटल और रस्तोर्ंट मसूरी के मॉल रोड पर ही है।
मसूरी मॉल रोड घूमने का सबसे बेहतरीन तरीका पैदल चल कर जाने का है।

यहा पर बहुत ही मशहूर video game parlour और रस्तोरेंट भी है जो बच्चों के लिये आकर्षण का केन्द्र बना रहता हैं।
मसूरी की मॉल रोड इसके बिल्कुल प्राइम लोकेशन में है। अगर आप होटल में रुकना चाहतें हैं तो आप मॉल रोड पर ही ले।
यहा की एन्ट्री फीस फ़्री है लेकिन अगर आप आप अपने गाड़ी से आ रहे है तो आपकों यहा घुसने के लिये 150 रुपय देने होंगे।
और यहा घूमने का सबसे सही समय शाम का है ।

दोस्तों अगर आप इन 10 जगह पर घूमने जाना चाहतें है तो आप होटल मॉल रोड में ही ले ।
ताकि आप कही अच्छा जगह रुक कर इन सभी जगह में घूम सकते हैं ।

मसूरी का मौसम | मसूरी का तापमान | मसूरी कब जाये | Mussoorie Weather

पहाड़ों की रानी मसूरी का मौसम हमेशा सुहावना बना रहता है. साल के सभी महीने में मौसम (mussoorie temperature) बेहद खुशनुमा रहता है जिससे हर साल भारी संख्‍या में पर्यटक आकर्षित करते है। मसूरी हिल स्‍टेशन सभी मौसम में सुंदर लगता है इसीलिए इसे पहाड़ों की रानी कहा जाता है । फिर भी मसूरी घूमने का सबसे अच्छा समय मार्च से जून के बीच और सितम्‍बर से नवंबर के बीच माना जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *